KYC full form in Hindi केवाईसी का मतलब

KYC Full Form – Know Your Customer

KYC Full Form Hindi : अपने ग्राहक को जानना 

KYC Detail

केवाईसी का हिन्दी मतलब होता है अपने ग्राहक को जानना 

Know – जानना

Your – अपने

Custmer – ग्राहक

KYC आज कई बड़ी वित्तीय कंपनियों एवं बैंको के लिए एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है, जिससे ग्राहकों की पहचान सत्यापित की जाती है.

RBI ने डिजिटल लेनदेन कंपनियों, बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों को अपनी सभी सेवाओं का उपयोग करने से पहले अपने ग्राहकों के KYC का निर्देश दिया है। KYC वित्तीय संस्थानों को आपकी बेहतर सेवा करने में मदद करता है।

KYC एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया है यह ग्राहकों और वित्तीय संस्थानों को धोखाधड़ी और अवैध गतिविधियों से बचाता है। नया बैंक खाता खोलने के लिए, बैंक लॉकर के लिए,  म्यूचुअल फंड खाता खोलने के लिए , UPI एप्लिकेशन जैसे फोन पे, गूगल पे, पेटीएम और विभिन्न प्रकार के ऑनलाइन transaction वाले app के लिए केवाईसी करना जरूरी है साथ ही ऑनलाइन निवेश के लिए, आपका केवाईसी आपके बैंक के साथ अपडेट होना चाहिए।

KYC क्या है?

केवाईसी वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा वित्तीय संस्थान अपने ग्राहक की पहचान और पते का प्रमाण सत्यापित करते हैं।

उदाहरण के लिए, यदि आप किसी बैंक में खाता खोल रहे हैं, तो बैंक आपको केवाईसी, यानी आपकी पहचान और पते को साबित करने के लिए आवश्यक कागजात पेश करने को कहेगा।

पहचान के प्रमाण और पते के प्रमाण के लिए कई अलग-अलग प्रकार के कागज हैं, जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, आदि।

आप इनमें से दो दस्तावेज़ प्रदान करके अपना केवाईसी पूरा कर सकते हैं

KYC Full Form English

 

KYC की आवश्यकता

केवाईसी बैंक और अन्य वित्तीय संस्थानों और ग्राहक दोनों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि केवाईसी के दौरान यह सुनिश्चित हो सके कि ग्राहक वास्तविक है और कोई धोखेबाज़ी नहीं है।

केवाईसी प्रक्रिया के तहत, किसी भी व्यक्ति के पहचान पत्र, दस्तावेज़ सत्यापन और चेहरे का सत्यापन किया जाता है, इस प्रकार ग्राहक और उसके द्वारा प्रदान की गई जानकारी को प्रमाणित किया जाता है।

केवाईसी की बदौलत आज बैंकिंग प्रक्रिया बहुत सुरक्षित हो गई है, और आरबीआई ने सभी बैंकों के लिए अपने ग्राहकों को नियमित आधार पर केवाईसी में अपडेट करना जारी रखना आवश्यक बना दिया है।

कई मामलों में, जब बैंक ग्राहकों के केवाईसी को अपडेट करने में विफल रहा, तो आरबीआई ने उन पर भारी जुर्माना लगाया।

केवाईसी में निम्नलिखित विवरण शामिल होते हैं: KYC Full Form

ग्राहक का नाम

जन्म तिथि

पिता का नाम

माता का नाम

वैवाहिक स्थिति

पता प्रमाण

पहचान प्रमाण

संपर्क नंबर

पैन कार्ड

आय का स्रोत

KYC दस्तावेजों की सूची

आप मूल दस्तावेजों का छायाप्रति करके अपने पते और पहचान का प्रमाण दे सकते हैं जो निम्न है –

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • नरेगा कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर का पत्र

आप अपनी पहचान के प्रमाण जैसे पैन कार्ड और आधार कार्ड अपने पते के प्रमाण के रूप में प्रदान कर सकते हैं,  इसके अलावा मतदाता पहचान पत्र या ड्राइविंग लाइसेंस प्रदान कर सकते हैं।

What is e-KYC -( E-kyc ka full Form)

e-KYC full form is Electronic KYC.

ई-केवाईसी वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा ग्राहक की पहचान और पते के प्रमाण को आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक रूप से सत्यापित किया जाता है।

आज, भारत के लगभग प्रत्येक नागरिक के पास आधार कार्ड है, और सबका बायोमेट्रिक विवरण को आधार कार्ड में दर्ज किया गया है,  कोई भी अपना अंगूठा Biomatric Device मे अंगूठे के मधायम से दर्ज करके अपनी पहचान साबित कर सकता है।

EKYC एक बहुत ही सुरक्षित और तेज़ प्रक्रिया है जिसमें आधार की छाया प्रति और हस्ताक्षर की जरूरत नहीं है।

4 thoughts on “KYC full form in Hindi केवाईसी का मतलब”

Leave a Comment