IGRSUP स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग उत्तर प्रदेश

IGRSUP : स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग उत्तर प्रदेश सरकार का एक महत्वपूर्ण विभाग है। इस विभाग द्वारा प्रमुखतः अचल सम्पत्ति के लेखपत्रों के रजिस्ट्रीकरण का कार्य किया जाता है। इसके अतिरिक्त पक्षकारों के विकल्प पर अन्य प्रकार के लेखपत्रों की भी रजिस्ट्री की जाती है। लेखपत्रों की रजिस्ट्री के अतिरिक्त यह विभाग रजिस्ट्रीकृत लेखपत्रों को संरक्षण करता है और लेखपत्रों को जनसाधारण हेतु सुलभ बनाता है।

 

स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग का कार्य प्रमुखतः

IGRSUP विभाग का कार्य प्रमुखत अधिनियम 1908 एवं भारतीय स्टाम्प एक्ट 1899 के तहत किया जाता है। रजिस्ट्रीकरण एक्ट के प्रावधानों के तहत विभाग द्वारा लेखपत्रों की रजिस्ट्री की जाती है। रजिस्ट्री के उपरान्त लेखपत्रों का संरक्षण किया जाता है तथा आवश्यकतानुसार साक्ष्य अथवा अन्य प्रयोजन से संरक्षित लेखपत्रों की प्रतियां न्यायालय एवं जनसामन्य को उपलब्ध करायी जाती है।

 

IGRSUP भारतीय स्टाम्प अधिनियम के अन्तर्गत लेखपत्रों पर स्टाम्प शुल्क की वसूली का कार्य भी करता है। उ०प्र० सरकार का राजस्व अर्जन में प्रमुख श्रोत स्टाम्प शुल्क है।

 

IGRSUP Registration 2021

प्रदेश सरकार, IGRSUP के माध्यम से सभी सेवाओं को सरल बना रही है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ ले सकें। पहले किसी भी प्रकार के पंजीकरण हेतु आम जन मानस को सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे। हमारे देश में अधिकतर ऐसे लोग है जिनके विवाह का पंजीकरण नहीं हुआ है। परन्तु सरकार द्वारा अब सभी प्रक्रिया को सरल बनाने के कारण अधिकतर सुबिधाए आसानी से घर बैठे पा सकते हैं।

 

सम्पत्ति एवं विवाह पंजीकरण 2021 हेतु, आवेदक को अपने कार्य से समय निकाल कर तहसील अथवा अन्य सरकारी विभाग जाना पड़ता था। जिसमे समय की बर्बादी निश्चित थी। परन्तु अब आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है। आप घर पर हे अपने मोबाइल फ़ोन अथवा कंप्यूटर की सहायता से अपना आवेदन कर सकते हैं। प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी, का अभियान है।  भारत को सशक्त बनाना। डिजिटल इंडिया बनाना। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार की यह ऑनलाइन सेवा भी उसी से जुड़ी। है।

 

igrsup.gov.in Registration 2021

इस सेवा से सम्बंधित विभाग, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग द्वारा सभी का कार्यभार लिया गया है। ऑनलाइन वेबसाइट पर आपको सम्पत्ति पंजीकरण से जुड़ी व विवाह पंजीकरण से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त होगी। हम अपने लेख में आपको यहाँ उपलब्ध विभिन्न सेवाओं का ज्ञान प्रदान करेंगे। भारतीय स्टाम्प अधिनियम के अंतर्गत लेखपत्रों के लिए स्टाम्प शुल्क पहले से हे विभाग द्वारा निर्धारित है। जो की आपको पंजीकरण के दौरान भरना पड़ेगा।

 

विभाग द्वारा जनसामान्य को प्रदत्त सुविधायें

1      उप निबन्धक कार्यालयों में जनसामान्य द्वारा प्रस्तुत लेखपत्रों का रजिस्ट्रीकरण।

2    उप निबन्धक कार्यालयों में रजिस्ट्रीकृत लेखपत्रों की इन्डैक्सिंग। इन्डैक्सिंग में उप निबन्धक कार्यालयों में लेखपत्र के पक्षकारों के नामवार एवं सम्बन्धित सम्पत्ति की क्षेत्रवार सूचियां तैयार करके इन्हें जनसामान्य के उपयोगार्थ उपलब्ध कराया जाता है।

3      लेखपत्रों की सत्यापित प्रति⁄नकल मा० न्यायालय एवं जनसामान्य को उपलब्ध कराना।

4      भार मुक्ति प्रमाण–पत्र– किसी अचल सम्पत्ति के सम्बन्ध में विगत वर्षो में जनसामान्य के मध्य कोई संव्यवहार यदि रजिस्ट्रीकृत कराया गया है अथवा सम्पत्ति का कोई बन्धक पत्र रजिस्ट्रीकृत कराया गया है तो सम्बन्धित प्रमाण पत्र उप रजिस्ट्रार के कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है।

5    हिन्दू विवाह पंजीकरण– हिन्दू विवाह अधिनियम 1955 के प्रावधानो के अधीन उप निबन्धक कार्यालयों द्वारा हिन्दू विवाहों के पंजीकरण का कार्य किया जाता है। वर्तमान में प्रदेश के उप निबन्धक कार्यालयों में Online हिन्दू विवाह पंजीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत किया गया है।

6    कृषि भमि के विक्रय पत्रों अथवा दानपत्रों की सत्यापित प्रतियां उप निबन्धक कार्यालयों द्वारा सम्बन्धित तहसील के राजस्व कार्यालय को दाखिल–खारिज हेतु निःशुल्क उपलब्ध करायी जाती है।

7     जिला निबन्धक कार्यालयों द्वारा जनसामान्य के वसीयतनामे जमा कराये जाने पर इन्हें संरक्षित रखा जाता है।

8   बीमारी अथवा वृद्धावस्था आदि के कारण यदि कोई निष्पादक अपने लेखपत्र के प्रस्तुतीकरण हेतु अथवा लेखपत्र निष्पादन को स्वीकार करने हेतु उप निबन्धक कार्यालय जाने में असमर्थ है तो ऐसी दशा में कार्यालय द्वारा इस सम्बन्ध में प्रमाण सहित आवेदन किये जाने पर निष्पादक के निवास स्थान पर लेखपत्र के प्रस्तुतीकरण एवं निष्पादन की स्वीकारोक्ति की प्रक्रिया सम्पन्न की जाती है।

 

उत्तर प्रदेश सम्पत्ति पंजीकरण के अनुसार पांच प्रकार की सुविधाएँ आती हैं। जो व्यक्ति इसमें अपना पंजीकरण करवाना चाहते हैं। वो ऑनलाइन माध्यम से आसानी से पंजीकरण करवाएं।

उ0प्र0 सम्पत्ति पंजीकरण में आने वाली मुख्य सुविधाएँ निम्न प्रकार हैं :-

  • ऑनलाइन आवेदन पत्र की सुविधा
  • औद्योयोगिकी सम्पत्ति के पंजीकरण के लिए निवेश मित्र वेब पेज का निर्माण
  • सम्पत्ति पंजीकरण के लिए नियुक्ति की सेवा
  • ऑनलाइन सम्पत्ति को खोजने की सुविधा
  • सम्पत्ति से जुड़ा पूर्ण विवरण

वहीं अगर आप विवाह पंजीकरण करवाना चाहते हैं। तो आप आधार आधारित विवाह पंजीकरण भी करवा सकतें है। इसमें ऑनलाइन माध्यम से आप आसानी से अपना आवेदन पत्र भर ऑनलाइन जमा करवाएं। व आधार कार्ड नंबर की सहायता से इसे आधार आधारित भी बना पाएंगे। इसमें कोई भी नवविवाहित युगल अपना पंजीकरण करवा सकतें हैं। पंजीकरण के लिए लगने वाला शुल्क भी ऑनलाइन भरा जा सकता है।

 

योजना  IGRSUP Registration 2021 उत्तर प्रदेश

शुरुआत                      माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी

विभाग                स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग

लाभ                  ऑनलाइन सेवा

उद्देश्य                 उत्तर प्रदेश सम्पत्ति एवं विवाह रजिस्ट्रेशन

लाभार्थी               आम जन

आधिकारिक वेबसाइट     igrsup.gov.in

UP Property Registration 2021 online

उत्तर प्रदेश मे स्टाम्प की निम्न दरें नीचे दी गयी है :

Type of Deed                                     Stamp Duty Charges

Sale deed                                            7%

Lease deed                                         200 Rupees

Gift deed                                             60 Rupees to 125 Rupees

Will                                                         200 Rupees

Special Power of Attorney           100 Rupees

General Power of Attorney         10 Rupees to 100 Rupees

Notarial Act                                        10 Rupees

Conveyance                                       60 Rupees to 125 Rupees

Affidavit                                               10 Rupees

Agreement                                         10 Rupees

Bond                                                     200 Rupees

Divorce                                                 50 Rupees

Adoption                                             100 Rupees

IGRSUP के तहत आने वाले पंजीकरण एक्ट रजिस्ट्रीकरण मंडलों की सूची निम्न प्रकार है :

  • अलीगढ
  • आगरा
  • लखनऊ
  • इलाहाबाद
  • बरेली
  • झांसी
  • आजमगढ़
  • फैजापुर
  • कानपुर
  • मेरठ
  • चित्रकूट
  • सीतापुर
  • बस्ती
  • मुरादाबाद
  • सहारनपुर
  • मिर्ज़ापुर
  • वाराणसी
  • देवीपाटन मॉडल
  • प्रयागराज
  • गौतम बुद्ध नगर
  • गोरखपुर इत्यादि।

IGRSUP Portal Registration 2021

 

 

उत्तर प्रदेश IGRSUP पंजीकरण का उदेश्य :

IGRSUP Portal की मदद से आम नागरिक घर बैठे ही, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग की सेवाओं का लाभ आसानी से उठा पाएगा ।

IGRSUP के आने से नागरिकों और सरकारी विभाग के बीच में पारदर्शिता बढ़ेगी।

IGRSU Portal Online होने से लोग अपना बहुमूल्य समय को बचा सकते हैं तथा सरकारी विभाग के कार्यालयो मे चक्कर से छुट्टी मिलेगी ।

सरकारी विभाग में लगाने वाली भीड़ भी कम हो जाएगी।

IGRSU Portal  के माध्यम से आसानी से घर बैठे पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

IGRS UP –सम्पत्ति पंजीकरण कराने हेतु आवश्यक दस्तावेजो की सूची

  • आवेदक के पास उत्तर प्रदेश से निर्गत स्थायी निवासी प्रमाण पत्र होना चाहिए
  • निवास से जुड़े प्रमाण पत्र
  • संपत्ति को खरीद फरोख्त करने वाले व्यक्ति का पहचान पत्र
  • गवाहों के पहचान पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदन पत्र की कॉपी
  • मोबाइल नंबर
  • सम्पत्ति / भूमि से जुड़े कागज़ात

IGRSUPउत्तर प्रदेश विवाह पंजीकरण दस्तावेज

igrsup

  • IGRS UP मे विवाह पंजीकरण के लिए आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना जरूरी है।
  • आधार कार्ड , वोटर कार्ड अथवा अन्य पहचान का दस्ताबेज संलग्न करना अनिवार्य है।
  • उत्तर प्रदेश के निवास प्रमाण पत्र हेतु बिजली अथवा टेलीफोन का बिल भी मान्य दस्ताबेज हैं।
  • दंपत्ति का संयुक्त फोटो
  • पास पोर्ट साइज फोटो
  • आयु का प्रमाण पत्र
  • गवाहों के पहचान पत्र
  • पति -पत्नी दोनों तरफ के  विवाह का कार्ड अथवा हलफनामा

IGRSUP सम्पत्ति पंजीकरण कैसे आवेदन करें ?

सबसे पहले IGRSUP की आधिकारिक वेबसाइट https://igrsup.gov.in/  पर जाएँ।

सम्पत्ति पंजीकरण करने के लिए सम्पत्ति आवेदन विकल्प पर जाएँ। और आवेदन करें पर क्लिक करें। आपके सामने नया पृष्ठ खुल जायेगा। यहाँ उपलब्ध नवीन आवेदन के विकल्प को चुने।

अब आवेदन पत्र खुलकर सामने दिखेगा। यहाँ पर मांगी गई सभी जानकारी जैसे जनपद , तहसील , पासवर्ड व मोबाइल नंबर भरने के बाद प्रवेश करें के विकल्प पर क्लिक करें।

आपको यंहा पर सम्पत्ति पंजीकरण आवेदन पत्र दिखेगा। यहाँ पर मांगी गयी सभी जानकारी भर कर आगे बढ़े पर क्लिक करें।

आवेदन पत्र में भरी सभी जानकारी को एक बार पुनः चेक कर ले व सुरक्षित करें विकल्प पर क्लिक करें।

अब आवेदन पत्र फ़ाइनल रूप से जमा हो गया है। जिसके पश्चात आवेदक को एक क्रमांक नंबर प्राप्त होगा। उसे सुरक्षित रखें ले।

आवेदन क्रमांक की सहायता से आप अपने आवेदन पत्र की स्थिति जान चेक कर सकते है।

 विवाह पंजीकरण IGRSUP Vivah Panjikaran

सबसे पहले आप IGRSUP के आधिकारिक website पर जाएँ।

अब IGRS UP के मुख्य पेज पर बाई तरफ विवाह पंजीकरण सेक्शन दिखेगा। आवेदन करे पर क्लिक करें

Igrsup पर उपलब्ध आधार आधारित विवाह पंजीकरण विकल्प को चुने।

IGRSUP Marriage Registration 2021

अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जहाँ मांगी गई सभी जानकारी सही से भरनी है। इसके बाद विवाह पंजीकरण पत्र आपके सामने खुल जायेगा।

आवेदन करते समय पुछी गयी सभी आवश्यक जानकारी भरें व मांगे गए आवश्यक दस्तावेज को संलग्न करें।

अंत में सबमिट बटन पर क्लिक कर के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूर्ण करें ले।

पंजीकरण पूर्ण होने के बाद एक क्रमांक संख्या प्राप्त होगी। जिसे कंही नोट करके रख ले ताकि भविष्य में आवेदन की स्थिति जानने मे सुगमता हो।

 

Official portal     IGRS UP

Leave a Comment